Forgot password?    Sign UP
भारत का चौथा ड्राइ-स्टेट बना बिहार, देसी के साथ विदेशी शराब भी बंद|

भारत का चौथा ड्राइ-स्टेट बना बिहार, देसी के साथ विदेशी शराब भी बंद|





2016-04-05 : हाल ही में, 5 अप्रैल 2016 को बिहार में शराब पर पूरी तरह से पाबंदी लग गई है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में राज्य में पूर्ण शराबबंदी के फैसले के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई। बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में तत्काल प्रभाव से सभी तरह की शराब की खरीद और बिक्री व उपभोग पर पाबंदी लगा दी गई है।

नीतीश ने कहा कि प्रदेश में अब होटल और बार में भी शराब नहीं मिलेगी। इसके साथ ही बिहार देश का चौथा ड्राइ-स्टेट बन गया है। इससे पहले गुजरात, नागालैंड और मिजोरम में शराब पर पूरी तरह प्रतिबंध है। नीतीश ने कहा, बिहार में देसी शराबबंदी के उत्साहजनक परिणाम को देखते हुए अब तत्काल प्रभाव से विदेशी शराब के भी थोक एवं खुदरा व्यापार और उसके उपभोग को प्रतिबंधित कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि देसी और मसालेदार शराब की खरीद और बिक्री पर एक अप्रैल से ही पाबंदी लगा दी गई है।

नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में किसी को शराब बेचने का लाइसेंस नहीं दिया जाएगा। हालांकि उन्होंने कहा कि आर्मी कैंटीनों में शराब बेची जाएगी। पटना में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीतीश ने मीडिया से भी इस मुहिम में सहयोग की अपील की। नीतीश ने कहा कि पुलिस की पूरी नजर है। चीफ सेक्रटरी से लेकर तमाम अधिकारियों ने शराबबंदी का संकल्प लिया है। नीतीश ने कहा कि ताड़ी के बारे में हमने कोई नया फैसला नहीं लिया है। इसको लेकर 1991 का फैसला लागू होगा। उस फैसले के मुताबिक ताड़ी की दुकानें कुछ स्थानों पर प्रतिबंधित हैं।

Provide Comments :




Related Posts :