Forgot password?    Sign UP
जर्मनी ने दुनिया की पहली हाइड्रोजन इंधन वाली ट्रेन का सफल परीक्षण किया

जर्मनी ने दुनिया की पहली हाइड्रोजन इंधन वाली ट्रेन का सफल परीक्षण किया





2018-09-19 : हाल ही में, जर्मनी में 18 सितंबर 2018 को विश्व की पहली हाइड्रोजन इंधन वाली ट्रेन का सफल ट्रायल किया गया। यह ट्रेन पूरी तरह से पर्यावरण के अनुकूल है अर्थात् डीजल इंजन की भांति इससे प्रदूषण नहीं होता। विश्व में बढ़ रही प्रदूषण की समस्या के चलते इस ट्रेन का निर्माण किया गया है। उत्तरी जर्मनी में हमबर्ग के पास एक रेलवे लाइन पर इस ट्रेन की का सफल ट्रायल हुआ। इस ट्रेन का नाम कोराडिया आई लिंट (Coradia iLint) रखा गया है।

हाइड्रोजन इंधन वाली ट्रेन की विशेषताएं इस प्रकार है.....

# इसको फ्रांस की कंपनी एलस्टॉम (Alstom) ने दो साल की मेहनत के बाद तैयार किया है।

# कंपनी द्वारा दावा किया गया है कि यह ट्रेन ज़ीरो एमिशन पैटर्न पर चलती है अर्थात् इससे कार्बन डाइऑक्साइड नहीं निकलती बल्कि इससे भाप उत्पन्न होती है।

# इसकी स्पीड और यात्रियों को ले जाने की क्षमता डीज़ल ट्रेन की तुलना में कम नहीं है। इसकी टॉप स्पीड 140 किलोमीटर प्रति घंटा है।

# कोराडिया आई लिंट ट्रेन सिंगल टैंक हाइड्रोजन भरे जाने पर 1,000 किलोमीटर की दूरी तय कर सकती है, ऐसा दावा किया गया है।

# इस ट्रेन के परीक्षण के तौर पर इसे उत्तरी जर्मनी में कक्सहेवन, ब्रेमेरहेवन, ब्रेमर्वोर्डे और बक्सटेहुड के कस्बों और शहरों के बीच एक 100 किलोमीटर की दूरी पर चलाया गया।

# इस ट्रेन की विशेषता यह भी है कि एक बार इसका टैंक फुल होने के बाद यह करीब 1000 किलोमीटर की दूरी तय करती है।

Provide Comments :





Related Posts :