Forgot password?    Sign UP
केंद्र सरकार ने फार्मा सेक्टर के लिए

केंद्र सरकार ने फार्मा सेक्टर के लिए "क्लस्टर" विकास योजना आरम्भ की गयी |





0000-00-00 : रसायन एवं उर्वरक मंत्री अनंत कुमार ने 17 जून 2015 को नई दिल्ली में फार्मा सेक्टर के लिए क्लस्टर विकास योजना (सीडीपी-पीएस) आरम्भ की गयी | यह कार्यक्रम फार्मा इंडस्ट्री में कार्यरत छोटे तथा मध्यम दर्जे की इकाइयों को अधिक क्षमतावान, उत्पाटदकतावान और प्रतिस्पडर्द्धी बनाने में मददगार साबित होगा |
कार्यक्रम के उद्देश्य इस प्रकार है :
(i) इससे इस क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा मिलेगा जिससे उत्पादन क्षमता में बढ़ोतरी होगी |
(ii) इंफ्रास्ट्रक्चर को सुधार कर भारतीय फार्मा इंडस्ट्री को विश्व की अग्रणी कम्पनियों को भारत से दवा निर्यात करना |
(iii) दवाओं के लागत मूल्य को 20 प्रतिशत तक कम करना जिससे देश में सस्ती दवाओं की उपलब्धता मुहैया करायी जा सके |
(iv) पर्यावरण को स्वच्छ बनाये रखने के लिए इंडस्ट्री की आवश्यक शर्तों का पालन करना तथा कॉमन वेस्ट मैनेजमेंट का पालन करना |
सीडीपी-पीएस की विशेषताएं इस प्रकार है :
(i) देश में स्वास्थ्य सुरक्षा को सुनिश्चित करने में भी यह प्रोग्राम काफी मददगार होगा |
(ii) वर्तमान में इस तरह के क्लस्टर हिमाचल स्थित बद्दी, उत्तराखंड में हरद्वार, हरियाणा में गुडगाँव, तेलंगाना में पत्तन्चेरू तथा महाराष्ट्र में नाशिक में स्थित हैं |
(iii) चालू वित्तं वर्ष के अंत तक 6 फार्मा क्लास्ट्र शुरू किए जाएंगे, जिसमें से तीन ग्रीनफील्डग में होंगे. यह क्ल स्ट र फार्मा इंडस्ट्रीर के लिए पर्याप्तज टेस्टिंग, ट्रेनिंग और एफ्यूलेंट ट्रीटमेंट को सुनिश्चित करेंगे |
(iv) सरकार भी जल्दग ही ड्रग पार्क और मेडिकल डिवाइसेज़ पार्क स्था्पित करेगी | और फार्मा सचिव डा. वी के सुब्बू्राज ने कहा कि फार्मा इंडस्ट्री सालाना 14 से 15 फीसदी की दर से विकास कर रही है और वर्ष 2020 तक यह 4 लाख करोड़ रुपए के आंकड़े को छू जाएगी |

Provide Comments :





Related Posts :