Forgot password?    Sign UP
UNEP द्वारा ब्लैक मुंबा एंटी-पोचिंग यूनिट वर्ष 2015 की चैंपियन ऑफ़ द अर्थ पुरस्कार हेतु चयनित |

UNEP द्वारा ब्लैक मुंबा एंटी-पोचिंग यूनिट वर्ष 2015 की चैंपियन ऑफ़ द अर्थ पुरस्कार हेतु चयनित |


Advertisement :


0000-00-00 : दक्षिण अफ्रीका की ब्लैक मुंबा एंटी-पोचिंग यूनिट (एपीयू) को 7 सितंबर 2015 को संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) द्वारा वर्ष 2015 के चैंपियन ऑफ़ द अर्थ पुरस्कार के लिए चयनित किया गया । ब्लैक मुंबा एंटी-पोचिंग यूनिट का चयन दक्षिण अफ्रीका की बैलूल प्राइवेट गेम वन क्षेत्र में जंगली जानवरों के अवैध शिकार को रोकने तथा सामाजिक स्तर पर कार्यक्रम आरंभ किये जाने के कारण किया गया । आपको बता दे की यह पुरस्कार सतत विकास लक्ष्यों के शिखर सम्मेलन के दौरान 27 सितंबर 2015 को न्यूयॉर्क में दिया जायेगा ।

ब्लैक मुंबा एंटी-पोचिंग यूनिट के बारे में :-

यह 26 सदस्यों वाली एक यूनिट है जिसमें अधिकतर महिलाएं हैं । और इसका गठन वर्ष 2013 में बैलूल प्राइवेट गेम रिज़र्व में जंगली जानवरों के संरक्षण हेतु किया गया था । तथा यह क्षेत्र ग्रेटर क्रुगेर नेशनल पार्क का ही एक भाग है जो 2 मिलियन हेक्टेयर क्षेत्र में फैला है । वे गैंडे, तेंदुए, शेर, हाथी, चीता और हिप्पो सभी को संरक्षण प्रदान करते हैं । एवं इनके प्रयासों के कारण ही पिछले 10 महीने में इस वन क्षेत्र में एक भी गेंडे का शिकार नहीं किया गया जबकि इसके पड़ोस में मौजूद संरक्षित वन में इस दौरान 23 गैंडों का शिकार किया गया ।

यूएनईपी चैंपियन ऑफ़ द अर्थ पुरस्कार के बारे में :-

यह संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम द्वारा पर्यावरण क्षेत्र में दिया जाने वाला शीर्ष पुरस्कार है । यह विश्व भर में दूरदर्शी लोगों और संगठनों को पहचानकर सतत विकास तथा जलवायु परिवर्तन में उनके योगदान को सम्मान प्रदान करता है । पाठको को बता दे की वार्षिक पुरस्कार वर्ष 2004 से आरंभ किया गया । पुरस्कार चार श्रेणियों में दिए जाते हैं, नीति नेतृत्व, उद्यमशीलता की दृष्टि, प्रेरणा तथा कार्य एवं विज्ञान और नवाचार ।

Provide Comments :


Advertisement :