Forgot password?    Sign UP
 भारत-रूस द्विपक्षीय नौसैनिक अभ्यास, इंद्रा नेवी-15, विशाखापत्तनम में आरंभ हुआ |

भारत-रूस द्विपक्षीय नौसैनिक अभ्यास, इंद्रा नेवी-15, विशाखापत्तनम में आरंभ हुआ |





2015-12-08 : भारत और रूस के मध्य 7 दिसंबर 2015 को द्विपक्षीय नौसैनिक अभ्यास विशाखापत्तनम में आरंभ हुआ। यह भारत और रूस की नौसेनाओं के बीच द्विपक्षीय सामुद्रिक अभ्यास और दोनों देशों के बीच सामरिक संबंधों का प्रतीक है। आईएनडीआरए (इंद्रा) नेवी का 8वां संस्करण बंगाल की खाड़ी में 12 दिसम्बर 2015 तक आयोजित किया जाएगा।

इंद्रा नेवी 2015 के बारे में :-

# इस अभ्यास का प्राथमिक उद्देश्य दोनों नौसेनाओं के बीच पारस्परिकता बढ़ाना और सामुद्रिक सुरक्षा से जुड़े प्रचालनों के बारे में समान समझ विकसित करना है।

# इसमें सामुद्रिक प्रचालनों के दायरे के अंतर्गत बंदरगाह चरण के दौरान व्यापक पैमाने पर व्यवसायिक सम्पर्क और समुद्र चरण में विविध प्रकार की परिचालन संबंधी गतिविधियां शामिल की जाएंगी।

# इसमें भारतीय नौसेना का प्रतिनिधित्व स्वदेशी बेड़ा आईएनएस सह्याद्री, लक्षित प्रक्षेपास्त्र विध्वंसक आईएनएस रणविजय और सहायक पोत बेडा़ आईएनएस शक्ति करेंगे।

# रशियन फेडरेशन नेवी (आरएफएन) का प्रतिनिधित्व विडीम रैबुखिन आंद्रे, डिप्टी कमांडर और व्लादिवोस्तक स्थि‍त प्रशांत बेड़े के पोत करेंगे।

# यह अभ्यास दो चरणों में, विशाखापत्तनम में बंदरगाह चरण (7 से 9 दिसम्बमर) और समुद्री चरण (10 से 12 दिसम्बर) विशाखापत्तनम तट से परे समुद्र चरण में चलाया जाएगा।

# बंदरगाह चरण में, समुद्र की ओर प्रस्थान करने से पूर्व टेबल-टॉप एक्सरसाइज और किनारे पर सम्मेलनों का आयोजन शामिल होगा।

Provide Comments :





Related Posts :