Forgot password?    Sign UP
 भारत ने रूस से रक्षा प्रणाली खरीद समझौते को मंजूरी दी |

भारत ने रूस से रक्षा प्रणाली खरीद समझौते को मंजूरी दी |





2015-12-18 : रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की अध्यक्षता में 18 दिसंम्बर 2015 को रक्षा खरीद परिषद ने एयर-स्पेस की सुरक्षा करने वाली एस-400 मिसाइल रक्षा प्रणाली खरीदने की मंजूरी दे दी। 23 दिसंबर को मोदी तीन दिवसीय रुस यात्रा पर रवाना होंगे। PM की यात्रा के दौरान इस रक्षा सौदे पर हस्ताक्षार किए जा सकते है। इस डील की कीमत लगभग 30-32 हजार करोड़ रुपये है। भारत वायुसेना के लिए एस-400 मिसाइल की 05 (पांच) फायरिंग यूनिट रशिया से खरीदेगा। हाल ही रशिया ने इस मिसाइल सिस्टम को सीरिया में तैनात किया था।

मिसाइल के बारे में महत्वपूर्ण बातें :-

# एंटी-बैलिस्टक एस-400, लंबी दूरी की मिसाइल 400 किलोमीटर की रेंज में किसी भी टारगेट को आसानी से लक्ष्य कर सकती है।

# रूस की एस-400 प्रणाली में अलग-अलग क्षमता की तीन तरह की मिसाइलें मौजूद है।

# एस-400 सुपसोनिक एयर डिफेंस सिस्टम में सुपरसोनिक एवं हाइपर सोनिक मिसाइलें होती हैं।

# यह आवाज की गति से भी तेज रफ्तार से हमला कर सकती है।

# यह रडार की पकड में न आने वाली अमेरिकन एफ-35 फाइटर जेट को भी टारगेट कर सकती है।

# इस उपयोगी मिसाइल सिस्टम को चीन ने भी इस रशिया से खरीदा है।

# 30 हजार करोड़ की एस-400 मिसाइल सिस्टम ग्लोबल टेंडर के तहत रशिया से खरीदी जायेगी।

Provide Comments :




Related Posts :