Forgot password?    Sign UP
30 करोड़ बच्चे विषैली हवा के संपर्क में रहते हैं : यूनिसेफ

30 करोड़ बच्चे विषैली हवा के संपर्क में रहते हैं : यूनिसेफ





2016-11-02 : हाल ही में, संयुक्त राष्ट्र ने 31 अक्टूबर 2016 को एक शोध जारी किया है जिसमें बताया है कि लगभग 30 करोड़ बच्चे बाहरी वातावरण की इतनी ज्यादा विषली हवा के संपर्क में आते हैं कि उससे उन्हें गंभीर शारीरिक हानि हो सकती है। उनके विकसित होते मस्तिष्क पर भी इसका दुष्प्रभाव पड़ सकता है। यूनिसेफ के इस शोध में बताया गया है कि विश्वभर के सात बच्चों में से एक बच्चा ऐसी बाहरी हवा में सांस लेता है जो अंतरराष्ट्रीय मानकों से कम से कम छह गुना अधिक दूषित है।

बच्चों में मृत्युदर का एक प्रमुख कारण वायु प्रदूषण है। इस शोध को संयुक्त राष्ट्र की वाषिर्क जलवायु परिवर्तन वार्ता से एक हफ्ते पहले प्रकाशित किया गया है। मोरक्को 7 नवम्बर से 18 नवंबर 2016 तक होने वाली इस वार्ता की मेजबानी करेगा। बच्चों के कल्याण और अधिकारों के क्षेत्र में काम करने वाली एजेंसी यूनिसेफ विश्वभर के नेताओं से अनुरोध कर रही है कि वे अपने-अपने देशों में वायु प्रदूषण को कम करने के लिए जरूरी कदम उठाएं जिससे की बच्चों का भविष्य सुरक्षित रहे। प्रत्येक वर्ष पांच साल से कम उम्र के 6,00,000 बच्चों की मौत की मुख्य कारण वायु प्रदूषण है और प्रत्येक दिन इससे लाखों के जीवन और भविष्य पर खतरा मंडराता जा रहा है।

Provide Comments :




Related Posts :